शीर्षासन – विधि – लाभ

विधि 

       

  •  शीर्षासन करने के लिए के सबसे पहले दरी बिछा कर समतल स्थान  पर वज्रासन की अवस्‍था में बैठ जाएं।
  • अब आगे की ओर झुककर दोनों हाथों की कोहनियों को जमीन पर टिका दें।
  • दोनों हाथों की उंगलियों को आपस में जोड़ लें।
  • अब सिर को दोनों हथेलियों के मध्य धीरे-धीरे रखें। सांस सामान्य रखें।
  • सिर को जमीन पर टिकाने के बाद धीरे-धीरे शरीर का पूरा वजन सिर छोड़ते हुए शरीर को ऊपर की उठाना शुरू करें।
  • शरीर का भार सिर पर लें।

लाभ 

       

  • सेक्स   उर्जा को ट्रांसफर्म करने का सबसे बेहतर आसन
  • आप चेहरे को लम्बे समय तक चमकदार और स्वस्थ बनाये रखना चाहते हैं तो यह बहुत कारगर है।
  •   उल्टा खड़े होने की स्थिति में ताजा पोषण और ऑक्सीजन चेहरे की तरफ संचारित होते हैं जिससे त्वचा चमकदार हो जाती है।
  • शीर्षासन से सिर नीचे की ओर मुड़ जाता है जिससे चहरे में चमक आती है
  • सिर पर सफेद बाल अपने आप ही काले होने लग जाते हैं।
  • शीर्षासन करने से खून साफ होता है।
  • अवसाद की बीमारी दूर होती है, पाचनतंत्र स्‍वस्‍थ रहता है।
  •  स्मरण शक्ति काफी अधिक बढ़ जाती है।